तेरा इन्तज़ार


कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा
अकेली तनहा याद करूँगी तुझे
प्यार मेरा तब भी बेपनाह होगा

हिज्र की रातों को जागा करूँगी
हर लम्हा मेरा बस तेरा होगा
फुर्सत क्या मसरुफियत क्या
ख़्यालो पर हक़ सिर्फ तेरा होगा

ज़माने की ठोकरे खाकर भी
लब पर सिर्फ तेरा फ़साना होगा
जो वादे तूने किये भी न थे
उसे तब मुझे निभाना होगा

तेरी मुहब्बत तेरी उस चाहत का
कर्ज़ मुझे चुकाना ही होगा
कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा

17 टिप्पणियाँ:

क्या बात है, क्या बात हं इतनी लाजवाब रचना , मन कर रहा कि कई बार बस पढता ही पढता ही रहूं ।

 

good keep it up.
likhte rahiye
aapke likhe lines zindagi ke aas paas le jate hay.

mere blog ko pathakon ki zarurat hay.

 

कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा
अकेली तनहा याद करूँगी तुझे
प्यार मेरा तब भी बेपनाह होगा

bahut hi sundar likha hai..........dil ko chhoo gaya.

 

shabnam apki rachnaye bahut acchhi hai...aap bahut acchha llikhti hai..kuchh kuchh mera sa lagta hai..
apki ye rachna padh kar ek geet k bol yaad aa gaye..

itna na tu mujhse pyar badha..
me ik baadal awara..
kaise kisi ka sahara banu..
me ik beghar...bechara..

 

कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा

वो इंतेज़ार का लम्हा शायद कयामत की घड़ी होगी .......... बहुत खूब .........

 

बहुत ही ख़ूबसूरती से आपने अपने एहसास पिरोये हैं.....बधाई.... :)

 

बहुत सुंदर लगी आप की यह गजल

 

शबनम...मैं क्या कहूँ अब.... तुमने तो निशब्द कर दिया है....

तेरी मुहब्बत तेरी उस चाहत का
कर्ज़ मुझे चुकाना ही होगा
कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा


बहुत सुंदर पंक्तियाँ....
www.lekhnee.blogspot.com


Regards...

 

शबनम साहिबा, आदाब.
तेरी मुहब्बत तेरी उस चाहत का
कर्ज़ मुझे चुकाना ही होगा
कुछ कहे बिन जब तू जुदा होगा
वो इन्तज़ार भी तेरा क्या होगा
वाह,
ये शब्दों के नगीने
फन से पैमाने में ढलकर
कितने खूबसूरत हो जायेंगे..
शाहिद मिर्ज़ा शाहिद

 

शबनम जी ,
बहुत सुन्दर रचना
बहुत बहुत आभार...

 

बहुत ही अच्‍छी कविता लिखी है
आपने काबिलेतारीफ बेहतरीन

Sanjay kumar
HARYANA
http://sanjaybhaskar.blogspot.com

 

MashaAllah bahut khoobsurat likha hai aapne jitni tareef ki jaaye kam hai ..... its an really fabulous mind blowing
aleem azmi

 

बेहद खूबसूरत । आभार ।

 

एक टिप्पणी भेजें